You can enable/disable right clicking from Theme Options and customize this message too.
logo
logo

Category : History

12 Jan 2020

राजा वीर विक्रमादित्य

कौन थे राजा वीर विक्रमादित्य….. ? बड़े ही शर्म की बात है कि महाराजा विक्रमादित्य के बारे में देश को लगभग शून्य बराबर ज्ञान है, जिन्होंने भारत को सोने की चिड़िया बनाया था, और स्वर्णिम काल लाया था उज्जैन के राजा थे गन्धर्वसैन , जिनके तीन संताने थी , सबसे बड़ी लड़की थी मैनावती , उससे छोटा लड़का भृतहरि और सबसे छोटा वीर विक्रमादित्य बहन मैनावती की शादी धारानगरी के राजा पदमसैन के साथ कर दी , जिनके एक लड़का […]

12 Jan 2020

यशवंती नाम था उसका

हाँ, ‘यशवंती’ नाम था उसका.. यशवंती.. नाम में ही यश है। कोंढाणा को हिंदवी स्वराज्य में फिर से जोड़ने वाली एक कड़ी थी यशवंती। यशवंती.. तानाजी मालुसरे की लाड़ली ‘गोह’ का नाम था। गोह क्या, बिटिया सी प्यारी थी। गढ़ चढ़कर अपने मजबूत नाखून पथरीली दीवारों में रोपती। उसकी पीठ पर बंधी रस्सी के सहारे कोई वजन में हल्का मावळा सरपट गढ़ चढ़ जाता और साथियों के लिए डोर बांध देता और फिर गढ़ पर रणचंडी जो हुंकार भरती.. कि […]

05 Jan 2020

क्या है गुलाम ऐ मुस्तफा

#गुलाम_ए_मुस्तफ़ा ? अहमदिया मुस्लिम ज़मात के संस्थापक मिर्ज़ा गुलाम अहमद कादियानी ने खुद को पहले नबी घोषित किया फिर कहा कि हिन्दू और बौद्ध ग्रंथों में वर्णित कल्कि अवतार और अमिताभ मैत्रेय भी मैं ही हूँ। हौसला बढ़ा तो आगे जाकर ये भी कह दिया कि जिस जीसस के दुबारा आने की बात बाईबल में है वो भी मैं ही हूँ। खुद को नबी, अवतार बताने के दावे करने वाले तो कुकुरमुत्ते की तरह रोज़ पैदा होते रहतें हैं इसलिये […]

07 Dec 2019

ब्रह्मास्त्र किस मंत्र से चलता था?

ब्रह्मास्त्र किस मंत्र से चलता था।? ब्रह्मास्त्र धर्म और सत्य (सत्य) को बनाए रखने के उद्देश्य से निर्माता ब्रह्मा द्वारा बनाया गया एक हथियार था। जब ब्रह्मास्त्र का निर्वहन किया गया, तब न तो कोई प्रतिवाद था और न ही कोई रक्षा जो इसे रोक सकती थी, ब्रह्मदण्ड को छोड़कर, ब्रह्मा द्वारा बनाई गई एक छड़ी भी। ब्रह्मास्त्र गायत्री मंत्र द्वारा जारी किया गया है लेकिन एक अलग तरीके से। किसी भी हथियार या घास के तिनके को भी गायत्री […]

07 Dec 2019

ब्रह्मास्त्र की मारक क्षमता क्या थी और वह कितना शक्तिशाली था?

ब्रह्मास्त्र की मारक क्षमता क्या थी और वह कितना शक्तिशाली था? महर्षि वेदव्यास लिखते हैं कि जहां ब्रह्मास्त्र छोड़ा जाता है वहां 12 वर्षों तक जीव-जंतु, पेड़-पौधे आदि की उत्पत्ति नहीं हो पाती। महाभारत में उल्लेख मिलता है कि ब्रह्मास्त्र के कारण गांव में रहने वाली स्त्रियों के गर्भ मारे गए। गौरतलब है कि हिरोशिमा में रेडिएशन फॉल आउट होने के कारण गर्भ मारे गए थे और उस इलाके में 12 वर्ष तक अकाल रहा। सिन्धु घाटी सभ्यता (मोहन जोदड़ो, […]

07 Dec 2019

ब्रह्मास्त्र से भी अधिक शक्तिशाली अस्त्र कौन से थे?

ब्रह्मास्त्र से भी अधिक शक्तिशाली अस्त्र कौन से थे? 1 – ब्रह्मशीर अस्त्र महाभारत के अनुसार, अश्वत्थामा और अर्जुन ने इस हथियार का इस्तेमाल किया था। ऐसा माना जाता है कि ब्रह्मशीर अस्त्र ब्रह्मास्त्र का विकसित रूप है, और दुश्मन का सफाया करने के लिए उल्काओं की बौछार करता है। यह हथियार भगवान ब्रह्मा के चार सिरों को अपनी नोक के रूप में प्रकट करता है। ऋषि अग्निवेश, द्रोण, अर्जुन और अश्वत्थामा के पास इस हथियार को रखने का ज्ञान […]

27 Nov 2019

मुम्बई की एक करोड़पति स्त्री- एक दुःखद अंत

#जरूर_पढ़ेंयह मुम्बई की करोड़पति स्त्री का शव है। एक करोड़पति NRI पुत्र की माँ की लाश है। लगभग 10 माह से 7 करोड़ के फ़्लैट में मरी पड़ी थी। अमेरिका में रहने वाले इंजीनियर ऋतुराज साहनी लंबे अरसे बाद अपने घर मुंबई लौटे, तो घर पर उनका सामना किसी जीवित परिजन की जगह अपनी मां के कंकाल से हुआ। बेटे को नहीं मालूम कि उसकी मां आशा साहनी की मौत कब और किन परिस्थितियों में हुई। आशा साहनी के बुढ़ापे […]

25 Nov 2019

महाभारत_चक्रव्यूह-विश्व का सबसे बड़ा युद्ध था महाभारत

#महाभारत_चक्रव्यूह विश्व का सबसे बड़ा युद्ध था महाभारत का कुरुक्षेत्र युद्ध। इतिहास में इतना भयंकर युद्ध केवल एक बार ही घटित हुआ था। अनुमान है कि महाभारत के कुरुक्षेत्र युद्ध में परमाणू हथियारों का उपयॊग भी किया गया था। ‘चक्र’ यानी ‘पहिया’ और ‘व्यूह’ यानी ‘गठन’। पहिए के जैसे घूमता हुआ व्यूह है चक्रव्यूह। कुरुक्षेत्र युद्ध का सबसे खतरनाक रण तंत्र था चक्रव्यूह। यधपि आज का आधुनिक जगत भी चक्रव्यूह जैसे रण तंत्र से अनभिज्ञ हैं। चक्रव्यू या पद्मव्यूह को […]

25 Nov 2019

स्वर्ण मंदिर और हिन्दू साधु- एक सच जो बदला गया

ये तस्वीर 1908 की है, अमृतसर के हरमंदिर साहेब की जिसे ईसाई वामपंथी गोल्डन टेंपल कहते है ।अब आपके मन मे ये प्रश्न उठा कि हिन्दू साधु ध्यान कैसे कर रहे है वो भी सिख तीर्थ में ?ज़रा इतिहास में चलते है।सिखों के पहले गुरु गुरु नानक थे।2-गुरु अंगददेव3- गुरु अमरदास4-गुरु रामदास5- गुरु अर्जुनदेव6- गुरु हरगोविंद7- गुरु हरराय8 – गुरु हरकिशन9- गुरु तेगबहादुर10- गुरु गोविंद सिंहसभी गुरु के नाम मे #राम #अर्जुन #गोविंद यानी के कृष्ण व हर यानी के […]

25 Nov 2019

हनुमान जी और बाली युद्ध

जब बाली को ब्रम्हा जी से ये वरदान प्राप्त हुआ,, की जो भी उससे युद्ध करने उसके सामने आएगा,, उसकी आधी ताक़त बाली के शरीर मे चली जायेगी,, और इससे बाली हर युद्ध मे अजेय रहेगा,, सुग्रीव, बाली दोनों ब्रम्हा के औरस ( वरदान द्वारा प्राप्त ) पुत्र हैं,, और ब्रम्हा जी की कृपा बाली पर सदैव बनी रहती है,, बाली को अपने बल पर बड़ा घमंड था,, उसका घमंड तब ओर भी बढ़ गया,, जब उसने करीब करीब तीनों […]